9771935367, 06432-275733
You May Contribute at Deoghar District Relief Fund | A/C No. 39238814977,  SBI, Deoghar  | IFS Code : SBIN0000064
Click Here To Know About Corona Live Status In Jharkhand  | Click Here To Download LockDown Guidelines  | Click Here To Download COVID - 19 पांच की शक्ति
Migrant Information
Jharkhand E-pass

सूचना भवन, देवघर, जिला जनसम्पर्क कार्यालय, दिनांक -15/04/2020

सूचना भवन, देवघर
=================
जिला जनसम्पर्क कार्यालय
====================
प्रेस विज्ञप्ति संख्या-707
दिनांक -15/04/2020
====================
■ मधुपुर अनुमंडल अंतर्गत चलंत भोजनालय के माध्यम से घर-घर तक पहुँचेगा भोजन.....
==================

उपायुक्त सह जिला दण्डाधिकारी श्रीमती नैन्सी सहाय के निर्देशानुसार लाॅक डाउन के दरम्यान असहाय व गरीब परिवारों को हर संभव सुविधा मुहैया कराने की दिशा में देवघर अनुमंडल के पश्चात मधुपुर अनुुमंडल अंतर्गत आज दिनांक 15.04.2020 को अनुमंडल कार्यालय, मधुपुर परिसर से चंलत भोजनालय रथ को हरि झण्डी दिखाकर रवाना किया। फूॅड ऑन व्हिल्स के माध्यम से जहां भी गरीब परिवार रहते हैं, वहां ये चलंत भोजनालय पहुंचकर लोगों को भरपेट भोजन करायेगा, ताकि ज्यादा से ज्यादा दूर-दराज रहने वाले लोगों को इसका लाभ मिल सके। इसके अलावे भोजन वितरण के दौरान स्वच्छता के साथ-साथ सोशल डिस्टेंसिंग का सख्ती से अनुपालन करने की व्यवस्था भी की गयी है, ताकि वायरस के संक्रमण को रोकने के प्रयासों में सफलता मिल सके। साथ हीं खाना खिलाने के दौरान लोगों के बीच कम से कम 2 से 3 फीट की दूरी निर्धारित कर उन्हें भोजन वितरित किया जा रहा है। इसके अलावा जरूरतमंद व असहाय लोगों की सुविधा मधुपुर अनुमंडल अंतर्गत पालोजोरी में 25, सारठ 27, मधुपुर 21, करौं 14, मारगोमुण्डा 13, सोनारायठाढ़ी 12, दीदी किचन का संचालन किया जा रहा हैं, ताकि लॉक डाउन के दरम्यान इन केंद्रों के माध्यम से अनाथ, बेसहारा, दिव्यांग, वृद्धजन, गरीब, अतिगरीब एवं राहगीरों को निःशुल्क खाना उपलब्ध कराया जा सकें। इसके अलावे दाल-भात केन्द्र, विशेष दाल-भात केन्द्र के साथ-साथ थानों में कम्यूनिटी किचन के माध्यम से निःशुल्क भोजन सभी को उपलब्ध करायी जा रही है। साथ हीं सभी केन्द्रों पर स्वच्छ रहे, स्वस्थ्य रहे के नारे का पालन करते हुए भोजन के पूर्व साबुन अथवा सेनिटाइजर से हाथों को धुलवाया जा रहा है और कोविद-19 से बचाव की जानकारियों से भी लोगों को अवगत कराया जा रहा है।

==================
#VisitDeoghar
#CleanDeogharGreenDeoghar
==================
#TeamPRD(Deoghar)


सूचना भवन, देवघर
=================
जिला जनसम्पर्क कार्यालय
====================
प्रेस विज्ञप्ति संख्या-704
दिनांक -14/04/2020
====================
■ अनुमंडल पदाधिकारी-सह-अनुमंडल दंडाधिकारी श्री विशाल सागर द्वारा जानकारी दी गयी कि देवघर अनुमंडल अन्तर्गत इन्डोर बैडमिंटन स्टेडियम, देवघर में अवस्थित फूड ग्रेन बैंक में आज सत्संग आश्रम, देवघर द्वारा पाँच क्विंटल चावल, 90 किलो दाल, 36 तेल, सोयाबीन, 20 किलो, आलू 5 क्विंटल, नमक 25 किलो सहयोग स्वरूप दी गयी है, ताकि इसका उपयोग लाॅकडाउन से प्रभावित गरीब, निःसहाय एवं बेघर लोगों के सहायता हेतु किया जा सके। इसके अलावे अगले 7 दिनों तक सत्संग आश्रम द्वारा फूड गे्रन बैंक को खाद्यान्न सामग्री उपलब्ध करवाई जायेगी।

ज्ञातव्य हो कि कोराना वायरस से बचाव, रोकथाम एवं इसके संभावित प्रसार को रोकने के उद्देश्य से जिला प्रशासन व पुलिस प्रशासन द्वारा लगातार आवश्यक कार्य किया जा रहा है। ऐसे में गरीब, मजदूर तबके एवं लॉक डाउन से प्रभावित दूरदराज क्षेत्र के व्यक्तियों को आवश्यक सुविधा पहुँचाने हेतु लगातार कार्य किये जा रहे हैं। इसी परिप्रेक्ष्य में अनेक समाजसेवी एवं दातागणों द्वारा स्वेच्छा से खाद्य सामग्रियों यथा गेहूं, चावल व अन्य राशन सामग्री सहयोग स्वरूप फूड ग्रेन बैंक में दान देकर लोगों की मदद की जा रही है।

इस प्रकार के दान दिए गए सामग्रियों के संग्रह हेतु देवघर जिला अंतर्गत अनुमंडल स्तर पर दो फूड ग्रेन बैंक की स्थापना की गई है, जो कि क्रमशः देवघर अनुमंडल क्षेत्र अन्तर्गत इन्डोर बैडमिंटन स्टेडियम देवघर एवं मधुपुर अनुमंडल क्षेत्र अन्तर्गत अग्रसेन भवन, मधुपुर है। यहां कोई भी इच्छुक दाता अपने ईच्छा अनुसार राशन सामग्री का दान पूर्वाहन 7ः00 बजे से 1ः00 अपराहन की अवधि में कर सकते है, जिसे जिला प्रशासन द्वारा संग्रहित कर जरूरतमंदों के मदद हेतु उपयोग किया जा रहा है।

==================
#VisitDeoghar
#CleanDeogharGreenDeoghar
==================
#TeamPRD(Deoghar)


सूचना भवन, देवघर
=================
जिला जनसम्पर्क कार्यालय
====================
प्रेस विज्ञप्ति संख्या-711
दिनांक -15/04/2020
====================
■ लॉक डाउन के दरम्यान जिलान्तर्गत जरूरतमंद और असहाय लोंगो के निःशुल्क भोजन की व्यवस्था: उपायुक्त....
===================
■ 194 पंचायत में निशुल्क भोजन की व्यवस्था:- उपायुक्त....
===================
उपायुक्त सह जिला दंडाधिकारी श्रीमती नैंसी सहाय द्वारा जानकारी दी गई कि कोरोना वायरस वैश्विक आपदा की इस घड़ी में समाज के बेसहारा,जरूरतमंद,दिव्यांग एवं अति गरीब लोगों को खाने का दिक्कत ना हो इसी हेतु झारखण्ड स्टेट लाइवलीहुड प्रमोशन सोसाइटी के माध्यम से देवघर जिलान्तर्गत 194 पंचायत में निशुल्क दीदी किचन की शुरुआत कर दी गई। इसके तहत पालोजोरी में 25, सारठ 27, मधुपुर 21, मोहनपुर 28, देवीपुर 17, करौं 14, सारवां 14, मारगोमुण्डा 13, सोनारायठारी 12, देवघर प्रखंड अंतर्गत 23 दीदी किचन का संचालन किया जा रहा हैं। लॉक डाउन के दरम्यान अनाथ,बेसहारा,दिव्यांग,वृद्धजन,गरीब,अतिगरीब एवं राहगीरों को निःशुल्क खाना इन केंद्रों में उपलब्ध कराया जा रहा है

इसके अलावे उपायुक्त श्रीमती नैंसी सहाय द्वारा जानकारी दी गई कि इन सभी केंद्रों पर भोजन वितरण के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का सख्ती से अनुपालन किया जा रहा है ताकि वायरस के संक्रमण को रोकने के प्रयासों में सफलता मिल सके। खाना खाने के दौरान लोगों के बीच कम से कम 3 फीट की दूरी निर्धारित कर उन्हें भोजन वितरित किया जा रहा है। साथ ही जिला आपूर्ति पदाधिकारी,

संबंधित प्रखंड विकास पदाधिकारी एवं अंचलाधिकारी को निर्देशित किया है कि समय-समय पर अपने क्षेत्रों के सभी दीदी किचन केन्द्रों में भोजन वितरण के साथ भोजन की गुणवत्ता और सोशल डिस्टेंसिंग के अनुपालन का विशेष ध्यान रखें और लोगों को स्वच्छता के प्रति जागरूक करते हैं।

==================
#VisitDeoghar
#CleanDeogharGreenDeoghar
==================
#TeamPRD(Deoghar)


सूचना भवन, देवघर
=================
जिला जनसम्पर्क कार्यालय
====================
प्रेस विज्ञप्ति संख्या-709
दिनांक -15/04/2020
====================
■ पुलिस अधीक्षक श्री नरेन्द्र कुमार सिंह के द्वारा जानकारी दी गयी कि वर्तमान में कोरोना वायरस के महामारी से पूरा विश्व व्याप्त है। ऐसे में इस कोरोना वायरस के संकट के बीच कुछ असमाजिक तत्वों के द्वारा विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफार्मों जैसे- व्हाट्सएप, ट्विटर, इंस्टाग्राम, फेसबुक, टिकटॉक, यूट्यूब आदि पर बहुत सारे फर्जी समाचार, गलत सूचनाओं और घृणा सामग्री से संबंधित संदेशों /भाषणों या वीडियो आदि को प्रसारित किया जा रहा है, जो कि उचित नहीं है। ऐसे में सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के सभी उपयोगकर्ताओं एवं एडमिन की को सख्त निदेशित किया जाता है कि वे किसी भी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर कोई भी फर्जी समाचार, गलत सूचनाओं और घृणा सामग्री से संबंधित संदेशों/भाषणों या वीडियो को पोस्ट नहीं करेंगे। साथ हीं ग्रुप एडमिन इस बात का ध्यान रखेंगे कि ग्रुप के कोई अन्य सदस्य भी ऐसा न करें।

उन्होंने आगे कहा कि यदि कोई व्यक्ति किसी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर कोई फर्जी समाचार, गलत सूचनाओं और घृणा सामग्री से संबंधित संदेशों/भाषणों या वीडियो को पोस्ट करते हुए पाये जाते हैं, तो उनके विरूद्ध सख्त कानूनी कार्रवाई करने के साथ-साथ गिरफ्तारी भी की जा सकती है।

उनके द्वारा आगे जानकारी दी गई कि इस हेतु सोशल मीडिया प्लेटफाॅर्म के उपयोगकर्ताओं हेतु विस्तृत दिशा-निर्देश भी जारी किये गए हैं, जो कि इस प्रकार है-

■ व्हाट्स एप्प या फेसबुक पेज के एडमिन एवं यू-टयुब के निर्माताओं की जवाबदेही:-
1. ग्रुप में सिर्फ जिम्मेदार और विश्वसनीय सदस्य को हीं जोड़ा जाय, जो कि सही व सत्यापित खबरों एवं जानकारी को हीं साझा करें।
2. सभी सदस्यों को विशेष रूप से समूह में किसी भी आपत्तिजनक सामग्री को पोस्ट करने से बचना चाहिए।
3. सक्रिय रूप से और नियमित रूप से सामग्री की निगरानी करें जो समूह में साझा की जा रही हो।
4. पुलिस को सूचित करें अगर कोई सदस्य चेतावनी के बाद भी फर्जी समाचार, अफवाहें, नफरत भरे संदेशों जैसी आपत्तिजनक सामग्री साझा करता है।
5. गैर-जिम्मेदार समूह के सदस्य, जो बार-बार अपराधी हैं, उन्हें समूह से हटा दिया जाना चाहिए और पुलिस को डायल 100 पर सूचित किया जाना चाहिए।
6. यह सलाह दी जाती है कि यदि समूह बेकाबू है, तो समूह सेटिंग्स को उस स्थान पर बदल दिया जाए जहां केवल एडमिन को हीं पोस्ट करने का अधिकार हो।

■ व्हाट्स एप्प या फेसबुक पेज के ग्रुप के सदस्यों की जवाबदेही:-
1. किसी भी ऐसी फर्जी खबर, घृणा सामग्री से संबंधित संदेशों, भाषणों या गलत जानकारी को पोस्ट, लाइक, फॉरवर्ड या सर्कुलेट न करें, जो कि आपको ग्रुप के अन्य सदस्यों से प्राप्त हुई हो।
2. समूह में पोस्ट करने से पहले आपको प्राप्त होने वाली किसी भी समाचार, छवि, वीडियो या meme आदि के स्रोत और सत्यता की जांच करें।
3. समाचार, अखबार की रिपोर्ट को पोस्ट, अग्रेसित करने से बचना चाहिए जो नफरत या शांति भंग कर सकती है।
4. कभी भी किसी भी कंटेंट टेक्सट, वीडियो, छवि आदि को साझा न करें, जो हिंसक या भेदभावपूर्ण हो अथवा किसी धर्म, जाति या समुदाय की भावनाओं को आहत करने वाला हो।
5. महामारी COVID 19 से संबंधित फेक समाचार या दावे को साझा न करें।
6. COVID-19 से प्रभावित व्यक्तियों या उनके रिश्तेदारों या उनके उपचार करने वाले डॉक्टरों, सहायक कर्मचारियों का विवरण पोस्ट न करें।
7. किसी भी व्यक्ति का अपमान करते हुए संदेश, वीडियो आदि पोस्ट न करें, जिससे शांति भंग होने की आशंका हो।
8. किसी भी अन्य को चोट आदि से डराने वाला कोई संदेश पोस्ट न करें।
9. कभी भी समूह में कोई अश्लील बातें या Sexually explicit Contents साझा न करें।
10. यदि आपको कोई गलत सूचना, फर्जी समाचार, अभद्र भाषा या अन्य आपत्तिजनक सामग्री का कोई टुकड़ा मिलता है, तो इसे www. cybercrime.gov.in ;k twitter@jharkhandPolice या डायल 100 पर रिपोर्ट करें, और अपने समूह व्यवस्थापक अर्थात एडमिन को भी तुरंत सूचित करें।

■ फेसबुक, टवीट्र, टिकटाॅक, यू-टयुब, इंस्टाग्राम के फाॅलोवर्स/सब्सक्राइबर्स की जवाबदेही:-
1. फॉलोअर्स और सब्सक्राइबर को किसी आपत्तिजनक कंटेंट को लाइक, रि-ट्वीट या फॉरवर्डिंग करने से बचना चाहिए।
2. फॉलोअर्स को कंटेंट क्रिएटर के आपत्तिजनक पोस्ट की रिपोर्ट डायल 100 पर या twitter@jharkhandPolice पर करनी चाहिए एवं उसे अनसब्सक्राइब करनी चाहिए।

■ व्हाट्स एप्प, फेसबुक, टवीट्र, टिकटाॅक, यू-टयुब, इंस्टाग्राम के इंडिभिजुअल युजर्स अथवा उपयोगकर्ताओं की जवाबदेही:-
1. अपने व्हाट्स एप्प के डिस्प्ले पिक्चर या व्हाट्स एप्प के स्टेटस अथवा फेसबुक, इंस्टाग्राम, टवीट्र आदि के प्रोफाइल पिक्चर पर कुछ भी ऐसा न डालें, जो किसी भी धर्म, समुदाय या जाति की भावनाओं को आहत कर सकता है।
2. कभी भी किसी भी कंटेंट टेक्सट, वीडियो, छवि आदि को साझा न करें, जो हिंसक या भेदभावपूर्ण हो अथवा किसी धर्म, जाति या समुदाय की भावनाओं को आहत करने वाला हो।
3. समूह में पोस्ट करने से पहले आपको प्राप्त होने वाली किसी भी समाचार, छवि, वीडियो या meme आदि के स्रोत और सत्यता की जांच करें।
4. किसी भी समाचार, अखबार की रिपोर्ट को पोस्ट, अग्रेसित करने से बचना चाहिए, जो नफरत या शांति भंग कर सकती है।
5. महामारी COVID 19 से संबंधित फर्जी समाचार या दावे न फैलाएं।
6. COVID-19 से प्रभावित व्यक्तियों या उनके रिश्तेदारों या उनके उपचार करने वाले डॉक्टरों, सहायक कर्मचारियों का विवरण पोस्ट न करें।
7. किसी भी व्यक्ति का अपमान करते हुए संदेश, वीडियो आदि पोस्ट न करें, जिससे शांति भंग होने की आशंका हो।
8. किसी भी अन्य को चोट आदि से डराने वाला कोई संदेश पोस्ट न करें।
9. कभी भी समूह में कोई अश्लील बातें या Sexually explicit Contents साझा न करें।

==================
#VisitDeoghar
#CleanDeogharGreenDeoghar
==================
#TeamPRD(Deoghar)


सूचना भवन, देवघर
=================
जिला जनसम्पर्क कार्यालय
====================
प्रेस विज्ञप्ति संख्या-708
दिनांक -15/04/2020
====================
■ बैंकों व ग्राहक सेवा केन्द्रों में सख्ती से करें सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालनः- उपायुक्त....
==================

उपायुक्त सह जिला दण्डाधिकारी श्रीमती नैन्सी सहाय ने जिलावासियों से अपील करते हुए कहा कि विभिन्न बैंक के शाखा, ग्राहक सेवा केन्द्र से पैसे की निकासी या अन्य कार्य में कोरोना संक्रमण फैलने के मानकों के अनुसार सामाजिक दूरी का पालन अवश्य करें। साथ हीं स्वास्थ्य सुरक्षा को देखते हुए साफ-सफाई के साथ अपने चेहरे को मास्क, रूमाल, साफ कपड़े से पूरी तरह से ढककर ही बाहर निकलें।

इसके अलावे उपायुक्त ने देवघर जिला अंतर्गत सभी शाखा प्रबंधक, ग्राहक सेवा केंद्र के संचालकों को आवश्यतानुसार शेड की व्यवस्था का निर्देश दिया। ताकि सामाजिक दूरी का अनुपालन सख्ती से हो सके। साथ ही उपायुक्त द्वारा एलडीएम को निदेशित किया गया है कि सभी बैंकों में सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन सख्ती से सुनिश्चित करें। वहीं जिला पंचायत राज पदाधिकारी को अपने स्तर से सभी मुखिया को निर्देश देकर अपने क्षेत्रांतर्गत बैंकों, ग्राहक सेवा केंद्रों में कोविड -19 के मानकों के अनुसार सामाजिक दूरी का सख्ती से अनुपालन हेतु संबंधित गांव के 2-3 स्वयंसेवकों को लगाने को कहा है। वहीं बैंकों, ग्राहक सेवा केंद्रों में सामाजिक दूरी का सख्ती से अनुपालन कराए जाने के लिए उपायुक्त ने ड्राॅन कैमरे का उपयोग व आवश्यकतानुसार बैंकों, ग्राहक सेवा के केंद्रों पर 2 -2 गृहरक्षक या चैकीदार की प्रतिनियुक्ति करने का निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिया गया, ताकि सामाजिक दूरी का पालन सुनिश्चित हो सके।

==================
#VisitDeoghar
#CleanDeogharGreenDeoghar
==================
#TeamPRD(Deoghar)


सूचना भवन, देवघर
=================
जिला जनसम्पर्क कार्यालय
====================
प्रेस विज्ञप्ति संख्या-705
दिनांक -15/04/2020
====================
■ सोशल डिस्टेंसिंग के अनुपालन को लेकर भू-अर्जन पदाधिकारी व जिला जनसम्पर्क पदाधिकारी द्वारा लोगों को किया जा रहा है जागरूक....
==================

उपायुक्त सह जिला दण्डाधिकारी श्रीमती नैन्सी सहाय के आदेशानुसार आई.ई.सी कोषांग के वरीय पदाधिकारी-सह- जिला भू-अर्जन पदाधिकारी श्री उमाशंकर प्रसाद एवं प्रभारी पदाधिकारी-सह- जिला जनसम्पर्क पदाधिकारी श्री रवि कुमार के द्वारा आज दिनांक 13.04.2020 को आर मित्रा़2 विद्यालय, बीएड काॅलेज, भीआईपी चैक स्थित मछली बाजार एवं शिवलोक परिसर में लगने वाले अस्थायी वेंडिंग जोन का भ्रमण कर माईकिंग के माध्यम से लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग के अनुपालन करने की अपील की गयी। इस दौरान इन जगहों पर फलों एवं सब्जियों का क्रय-विक्रय करने वाले दुकानदारों को एक जगह भीड़ न जमा करने का निर्देश दिया गया, ताकि कोरोना वायरस से बचाव हेतु सोशल डिस्टेंस का पालन हो सके। साथ हीं लाॅक डाउन के दरम्यान नियमों के उल्लंघन करने पर सख्त कार्रवाई करने की बात कही गयी।

इस दौरान वरीय पदाधिकारी श्री उमाशंकर प्रसाद द्वारा पूरे वेंडिंग जोन का अवलोकन कर सभी फल व सब्जी विक्रेताओं को निदेशित किया गया कि वे अपने- अपने दुकानों के आगे किसी भी स्थिति में भीड़ एकत्रित न होने दें एवं उनके दुकानों में आने वाले लोगों को एक-एक मीटर की दूरी पर कतारबद्ध होने के लिए बोलें व उसी अनुरूप क्रेताओं को सामान दें। साथ हीं उनके द्वारा दोनों अस्थायी वेंडिंग जोन में प्रतिनियुक्त सुरक्षाकर्मियों को निदेशित किया गया कि वे पूरी मुस्तैदी के साथ अपने कर्तव्यों का पालन करें एवं लोगों से सोशल डिस्टैंसिंग का कड़ाई से अनुपालन करायें।

इस दौरान जिला जनसम्पर्क पदाधिकारी श्री रवि कुमार द्वारा लोगों से अपील की गयी कि वर्तमान में कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव हेतु कृपया कर सभी सोशल डिस्टेंस का पालन करें। हम सभी के स्वास्थ्य सुरक्षा के दृष्टिकोण से आवश्यक है कि हम सभी अपने घरों में सुरक्षित रहें और अत्यंत आवश्यक होने पर हीं घर से बाहर निकलें एवं साफ-सफाई व सैनीटाईजेसन का भी विशेष ध्यान रखे। साथ हीं अतिआवश्यक होने पर हीं अपने घरों से एक आदमी बाहर निकले व मास्क, रूमाल या साफ कपड़े से अपने चेहरे को पूरी तरह से ढक कर रखें।

==================
#VisitDeoghar
#CleanDeogharGreenDeoghar
==================
#TeamPRD(Deoghar)


सूचना भवन, देवघर
=================
जिला जनसम्पर्क कार्यालय
====================
प्रेस विज्ञप्ति संख्या-704
दिनांक -14/04/2020
====================
■ अनुमंडल पदाधिकारी-सह-अनुमंडल दंडाधिकारी श्री विशाल सागर द्वारा जानकारी दी गयी कि देवघर अनुमंडल अन्तर्गत इन्डोर बैडमिंटन स्टेडियम, देवघर में अवस्थित फूड ग्रेन बैंक में आज सत्संग आश्रम, देवघर द्वारा पाँच क्विंटल चावल, 90 किलो दाल, 36 तेल, सोयाबीन, 20 किलो, आलू 5 क्विंटल, नमक 25 किलो सहयोग स्वरूप दी गयी है, ताकि इसका उपयोग लाॅकडाउन से प्रभावित गरीब, निःसहाय एवं बेघर लोगों के सहायता हेतु किया जा सके। इसके अलावे अगले 7 दिनों तक सत्संग आश्रम द्वारा फूड गे्रन बैंक को खाद्यान्न सामग्री उपलब्ध करवाई जायेगी।

ज्ञातव्य हो कि कोराना वायरस से बचाव, रोकथाम एवं इसके संभावित प्रसार को रोकने के उद्देश्य से जिला प्रशासन व पुलिस प्रशासन द्वारा लगातार आवश्यक कार्य किया जा रहा है। ऐसे में गरीब, मजदूर तबके एवं लॉक डाउन से प्रभावित दूरदराज क्षेत्र के व्यक्तियों को आवश्यक सुविधा पहुँचाने हेतु लगातार कार्य किये जा रहे हैं। इसी परिप्रेक्ष्य में अनेक समाजसेवी एवं दातागणों द्वारा स्वेच्छा से खाद्य सामग्रियों यथा गेहूं, चावल व अन्य राशन सामग्री सहयोग स्वरूप फूड ग्रेन बैंक में दान देकर लोगों की मदद की जा रही है।

इस प्रकार के दान दिए गए सामग्रियों के संग्रह हेतु देवघर जिला अंतर्गत अनुमंडल स्तर पर दो फूड ग्रेन बैंक की स्थापना की गई है, जो कि क्रमशः देवघर अनुमंडल क्षेत्र अन्तर्गत इन्डोर बैडमिंटन स्टेडियम देवघर एवं मधुपुर अनुमंडल क्षेत्र अन्तर्गत अग्रसेन भवन, मधुपुर है। यहां कोई भी इच्छुक दाता अपने ईच्छा अनुसार राशन सामग्री का दान पूर्वाहन 7ः00 बजे से 1ः00 अपराहन की अवधि में कर सकते है, जिसे जिला प्रशासन द्वारा संग्रहित कर जरूरतमंदों के मदद हेतु उपयोग किया जा रहा है।

==================
#VisitDeoghar
#CleanDeogharGreenDeoghar
==================
#TeamPRD(Deoghar)


सूचना भवन, देवघर
=================
जिला जनसम्पर्क कार्यालय
====================
प्रेस विज्ञप्ति संख्या-710
दिनांक -15/04/2020
====================

■ उपायुक्त सह जिला दण्डाधिकारी श्रीमती नैन्सी सहाय के द्वारा जानकारी दी गयी है कि तम्बाकू का सेवन जनस्वास्थ्य के लिए बड़े खतरों में से एक है। तम्बाकू का सेवन गैर संचारी रोगों से जुड़े जोखिम का प्रमुख कारण है। भारत में कैंसर से मरने वाले 100 रोगियों में से 40 तम्बाकू के सेवन के कारण मरते है। लगभग 90 प्रतिशत मुंह के कैंसर तम्बाकू सेवन करने वाले व्यक्तियों में होते है। अभिघाट, हार्ट अटैक, फेफड़े के रोग दृष्टिविहिनता और कुछ लोगों की मौत तम्बाकू सेवन क कारण होने वाली बीमारियों से हो रही है।

भारतीय ससंद ने 2003 में युवाओं और आम जनमानस को तम्बाकू सेवन के दुष्प्रभावों से बचाने के लिए सिगरेट और अन्य तम्बाकू उत्पाद विज्ञापन का प्रतिषेध और व्यापार तथा वाणिज्य, उत्पादन, प्रदाय और वितरण का विनियमन अधिनियम, 2003 कोटपा को लागू किया है। अधिनियम पूरे भारत में लागू है। यह एक राष्ट्रीय कानून है, जिसका अनुपालन राज्य सरकार के द्वारा किया जाना है। कोटपा की धारा 4 के अंतर्गत सभी सार्वजनिक स्थलों पर धुम्रपान करने पर प्रतिबंध है। प्रतिबंध स्थलों पर धूम्रपान निषेध का उल्लंघन करने पर दण्डस्वरूप 200 रूपये तक का जूर्माना लगाये जाने का प्रावधान है।

थूकना एक प्रमुख सार्वजनिक स्वास्थ्य खतरा हैं और संचारी रोगों का फैलाने का एक प्रमुख कारक है। तम्बाकू उत्पाद का सेवन उपरांत यत्र-तत्र थूकने से स्वाईन फ्लू, निमोनिया, आंत और अन्य गंभीर बीमारियों का प्रसार होता है। खासकर तपेदिक के रोगानू जो पूरे दिन थूक में जीवित रह सकते है आम लोगों के स्वास्थ्य पर विपरित प्रभाव डाल सकते है।

भारतीय दण्ड संहिता की धारा 268 एवं भारत सरकार की महत्वाकांक्षी योजना स्वस्च्छ भारत स्वस्थ्य भारत अभियान के तहत सार्वजनिक भवनों को स्वच्छ एवं साफ रखने के उद्देश्य को ध्यान में रखते हुए झारखण्ड अंतर्गत सभी सरकारी भवनों, कार्यालया, संस्थानों, शिक्षण संस्थानों आदि परिसर को तम्बाकू मुक्त क्षेत्र घोषित किया जाता है। फलस्वरूप सभी सरकारी कार्यालय, संस्थान आदि में किसी भी प्रकार का तम्बाकू पदार्थ यथा- सिगरेट, बीड़ी, खैनी, गुटखा, पान मसाला जर्दा आदि का उपयोग पूर्णतः प्रतिबंधित रहेगा। ऐसे में उपरोक्त प्रवाधानों के अंतर्गत उल्लंघनकत्ताओं पर विधिसंवत कार्रवाई की जायेगी।

==================
#VisitDeoghar
#CleanDeogharGreenDeoghar
==================
#TeamPRD(Deoghar)


सूचना भवन, देवघर
=================
जिला जनसम्पर्क कार्यालय
====================
प्रेस विज्ञप्ति संख्या-712
दिनांक -15/04/2020
====================

■ उपायुक्त-सह-जिला दण्डाधिकारी श्रीमती नैंन्सी सहाय द्वारा लॉकडाउन और स्वास्थ्य आपातकाल के वर्तमान समय में बीस मुख्य बातें का ध्यान रखने का निदेश संबंधित अधिकारियों को दिया गया है।

1. देवघर जिला अन्तर्गत/कन्ट्रोल रूम कक्ष को मजबूत करनाः उन्हें आवश्यक सेवाओं को चालू रखने और बहाली के लिए तैयार करने के लिए संबंधित विभागों के प्रमुख कर्मियों के साथ स्टाफ देना। हॉट स्पॉट और अड़चनों को ट्रैक करने के लिए GIS और विश्लेषणात्मक क्षमता सथापित करना, सोशल और प्रसारण मीडिया के लिए आपातकालीन संचार क्षमता सथापित करना। नागरिक, हितधारक और फ्रंटलाइन स्टाफ से प्रश्नों का जवाब देने और अड़चनों की पहचान करने के लिए समर्थन हॉटलाइन और कॉल सेंटर से सूचना प्रवाह को सक्षम करना।

2. स्वास्थ्य प्रणालियों, आपातकालीन सेवाओं और फार्मा एवं मेडिकल सप्लाई चेन का विस्तार करनाः और यह प्रासंगिक सलाह और अच्छी प्रथाओं के अनुसार करना। अलग मार्गदर्शन और विशिष्ट कार्याें की आवश्यकता है जो यहां नहीं दिये गए हैं।

3. सुरक्षित राज्यव्यापी ICT अवसंरचना और कामकाजी सेवाएं सुनिश्चित करना फोन, मोबाइल फोन, इंटरनेट, टीवी, प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया सभी नागरिकों के लिए संपर्क सक्षम करने के लिए, और राज्य तथा स्थानीय प्रशासन के साथ एक खुला और पारदर्शी इंटरफेस बनाना। निजी क्षेत्र के समर्थन के साथ संकटग्रस्त, अत्यधिक संवेदनशील और विशेष समूहों जैसे प्रवासियों में नागरिकों को जवाब देने के लिए हेल्पलाइन स्थापित करना ।

4. बैंकिंग, डाकघर, एटीएम और पूंजी सेवाओं को मजबूत करना जो प्रत्यक्ष नकद हस्तांतरण, बढ़ी हुई पेंशन आदि की डिलीवरी और आवश्यक सेवाओं और सरकारी कामकाज को चालू रखने के लिए जरूरी हैं। यदि नकद आपूर्ति कम होने की सूचना है, तो स्थानीय नकद आपूर्ति को फिर से भरने पर विचार करना, जो अनौपचारिक अर्थव्यवस्था की जीवन रेखा है।

5. राशन और सार्वजनिक सेवाओं का सुदृढ़ीकरण और विस्तार करना यह सेवा के रूप में समर्थन (जैसे भोजन, नागरिक आपूर्ति मिट्टी का तेल और एलपीजी) के वितरण के लिए आवश्यक है, इसमें स्टॉक ट्रैकिंग करना, दैनिक आवागमन को सक्षम करना, और अनौपचारिक क्षेत्र के श्रमिकों की रक्षा करना और उनका समर्थन करना शामिल है, जो इन प्रणालियों को चालू रखते हैं। आंगनबाड़ी और मध्याहन भोजन कार्यक्रमों, अस्पतालों और महत्वपूर्ण देखभाल सुविधाओं और बुजूर्गों, कमजोर और दरूस्थ आबादी के लिए आपूर्ति बनाए रखने के लिए विशेष देखभाल।

6. आपातकालीन यात्री निकासी/परिवहन सड़क और संभवत रेल द्वारा, पर्याप्त प्रवासीकरण और आश्रय, भोजन, स्थाथ्य जांच, दवा या संगरोध (क्वारनटाइन) के प्रावधान के साथ, लाखों प्रवासी श्रमिकों की जरूरतों और आपातकालीन चिकित्सा देखभाल, शोक/दखु आदि की आवश्यकता को संबोधित करने के लिए।

7.बिजली की आपूर्ति स्थिर बनाए रखना लॉकडाउन के दौरान निर्बाध आवासीय और कृषि बिजली सुनिश्चित करने के लिए वितरण के बुनियादी ढांचे पर ध्यान केंद्रित करना और लॉकडाउन के पश्चात तेजी से बहाली करना।

8. ईंधन की स्थिर आपूर्ति बनाए रखना और माल परिवहन, आपातकालीन सेवाओं के वाहनों को बनाए रखने के लिए (डीजल, पेट्रोल, एलपीजी और सीएनजी के) उपयुक्त स्टाॅक महत्वपूर्ण बुनियादी ढांचे के लिए बैकअप या कैप्टिव बिजली की आपूर्ति जैसे मोबाईल टाॅवर, टेलिकाॅम सिस्टम और डेटा सेंटर, अस्पतालः महत्वपूर्ण विनिर्माण सुविधाओं, गोदामों और कोल्ड चेन, कृषि और संबंद्ध गतिविधि और लाॅकडाउन के पश्चात सार्वजनिक तथा निजी यात्री मांग में वृद्धि के लिए तैयारी करना।

9. माल परिवहन को बनाए रखना और उसका विस्तार करनाः रेल सड़क और वायु द्वारा, राज्य के अंदर (इंस्ट्रस्टेट) और राज्यों के बीच (इंस्टरस्टेट) भोजन और आवश्यक आपूर्तियों, सतत प्रक्रिया और रणनीतिक उत्पादन ईकाईयों को बनाए रखने के लिए और लॉकडाउन के पश्चात तेजी से बहाली करने के लिए। रबी फसल का समर्थन करने के लिए स्थानीय छूट आवश्यक हो सकती है।

10. गोदामों और कोल्ड चेन सेवाओं को बनाए रखनाः पीडीएस और आवश्यक सेवाओं की व्यवस्थाओं का समर्थन करने के लिए।

यह कार्य आपूर्ति और कामकाज के पर्याप्त स्टॉक, सार्वजनिक, निजी और अनौपचारिक क्षेत्र के श्रमिकों की सुरक्षा, सुविधाओं की सुरक्षा और पर्याप्त बिजली, पानी की आपूर्ति और अपशिष्ट प्रबंधन सेवाओं को ट्रैक और सुनिश्चित करने के द्वारा किया जा सकता है।

11. आवश्यक सेवाओं के लिए आपूर्ति श्रंखृला बनाए रखनाः जीनरक्षक मूलभूत सेवाओं और वितरण और खुदरा श्रृंखलाओं में अनौपचारिक-अनौपचारिक क्षेत्र की व्यवस्था में बाधाओं को संबोधित करना। प्रमुख हितधारकों के साथ बातचीत करना और लॉकडाउन की स्थिति के एक चरणबद्ध छूट को सक्षम करना।

12. जल आपूर्ति सेवाओं को स्थिर बनाए रखनाः ताकि शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में घनी परिस्थितियों में बंद बड़ी आबादी के साथ, पानी से संबंधित बीमारियों के जोखिम को सीमित किया जा सके। पानी की कमी वाले क्षेत्रों में पाइलाइन-आधारित या टैंकर की नियमित आपूर्ति जहाँ आपूर्ति भूजल को पंप से निकालने करने पर निर्भर करती है, वहां स्थिर बिजली बने रखना।

13. स्वच्छता और ठोस अपशिष्ट सेवाओं को स्थिर बनाए रखनाः विशेष रूप से लॉकडाउन में बड़ी संख्या में लोगों के साथ स्वच्छता की स्थिति बनाए रखना। COVID-19 के संपर्क में आने के जोखिम वाले फ्रंटलाइन सफाई और ठोस अपशिष्ट श्रमिकों की बेहतर सुरक्षा करना।

14. कृषि और गैर-कृषि गतिविधियों को समर्थन देनाः अप्रैल 2020 से शुरू होने वाली अपेक्षित बम्पर रबी फसल का समर्थन करना, जिसमें पर्याप्त स्क्रीनिंग और सुरक्षा, कृषि उपकरण और कृषि आपूर्ति के साथ कृषि श्रमिकों के आवागमन में छूट शामिल है।

15. सिंचाई सेवाओं को बनाए रखनाः सब्जियों और फलों की आपूर्ति को स्थिर करने लिए गर्मियों की फसलों की बुवाई की रक्षा करना और लॉकडाउन के पश्चात तेजी से सेवा बहाली करना।

16. आवश्यक सामग्री का उत्पादन बढ़ाना जैसे दवाओं, चिकित्सा आपूर्ति भोजन, पका हुआ भोजन, घरेलू आपूर्ति राज्य के अंदर ईंधन की पुनः आपूर्ति या वैकल्पिक अंतर-राज्य व्यवस्था करना।

17. श्रमिकों और उनकी आजीविका को सुरक्षित रखनाः विशेष रूप से प्रवासियों और अनौपचारिक क्षेत्र के लोगों को। सभी फ्रंटलाइन स्वास्थ्य और स्वच्छता कार्यकर्ताओं को व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण (पीपीई) का एकत्रीकरण और वितरण करना। कानून और व्यवस्था, प्रशासनिक, जीवनरक्षक बुनियादी ढांचे और आवश्यक आपूर्तिकार्यों को बनाए रखने वाले अन्य नजदीकी-फ्रंटलाइन श्रमिकों के लिए उचित सुरक्षा और प्रशिक्षण के उपाय करना।

18. प्रवासी श्रमिकों और प्रवासी परिवारों की जरूरतों को पूरा करना।

19. कमजोर समूहों की जरूरतों को संबोधित करना जैस कि बेघर लोग, बुजूर्गाें, कैदी, मानसिक रूप से बीमार और विकलांग व्यक्ति।

20. उभरती भूख और कुपोषण संकट को संबोधित करनाः और इसके परिणाम स्वरूप मृत्युदर और रुग्णता, विशेष रूप से गरीब, कमजोर, अल्पपोषित बच्चों और महिलाओं के बीच प्रभाव को संबोधित करना।

==================
#VisitDeoghar
#CleanDeogharGreenDeoghar
==================
#TeamPRD(Deoghar)


सूचना भवन, देवघर
=================
जिला जनसम्पर्क कार्यालय
====================
प्रेस विज्ञप्ति संख्या-714
दिनांक -15/04/2020
====================

■ अनुमंडल पदाधिकारी श्री विशाल सागर द्वारा जानकारी दी गयी कि लॉक डाउन के वजह से बहुत से असहाय, निर्धन एवं गरीब परिवारों की सुविधा व स्वास्थ्य सुरक्षा हेतु लगातार आवश्यक कार्य किये जा रहे हैं। इसके अलावे इस वैश्विक आपदा के समय में ऐसे में समाज के विभिन्न वर्ग के लोगों द्वारा बढ़चढ़ कर अपने सामर्थ्य के अनुसार जिला प्रशासन का सहयोग किया जा रहा हैं। इसी कड़ी में आज Ms. MKS construction द्वारा यहाँ के असहाय व निर्धन लोगों के सहयोग हेतु देवघर जिला प्रशासन के राहत कोष में 1,11,000/- (एक लाख ग्यारह हजार) की राशि दान की गयी है, ताकि उक्त राशि से देवघर के विभिन्न गरीब, निःसहाय एवं मजदूर तबके के लोगों की मदद की जा सके, जिनका लॉक डाउन के वजह से रोजी- रोजगार प्रभावित हो गया है एवं उनके पास जीवननिर्वाह हेतु कोई भी साधन उपलब्ध नहीं है।

==================
#VisitDeoghar
#CleanDeogharGreenDeoghar
==================
#TeamPRD(Deoghar)


सूचना भवन, देवघर
=================
जिला जनसम्पर्क कार्यालय
====================
प्रेस विज्ञप्ति संख्या-713
दिनांक -15/04/2020
====================

■ नगर आयुक्त श्री शैलेन्द्र कुमार लाल द्वारा जानकारी दी गयी कि देवघर नगर निगम अंतर्गत वर्तमान में कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव हेतु सेवाप्रदायी कार्यों का मुस्तैदी से निष्पादन किया जा रहा है, जिससे नगरवासियों को पेयजलापूर्ति उपलब्ध करायी जा रही है जो अबाद्ध रूप से जारी है। वर्तमान में आमजनों से मिल रही शिकायतों को संज्ञान में लेते हुए एवं इसकी जांच भी की गयी है, जिससे ऐसा पाया गया है कि अज्ञात लोगों, असमाजिक तत्वों, अनाधिकृत पलम्बरों द्वारा पेयजलापूर्ति के पाईप लाईन के साथ छेड़-छाड ़कर स्टेण्ड पोस्ट का निर्माण कराया जा रहा है। जिससे आमजनों को निमित पेयजलापूर्ति बाधित हो रही है जो झारखण्ड नगरपालिका अधिनियम, 2011 का उल्लंघन भी है।

ऐसे में नगर आयुक्त द्वारा वैसे सभी अज्ञात लोगों, असमाजिक तत्वों, अनाधिकृत पलम्बरों को आगाह किया गया है कि इस तरह के कार्य किसी भी सुरत में बर्दाश्त नहीं किया जायेग। साथ हीं पकड़े जाने पर झारखण्ड नगरपालिका अधिनियम, 2011 के तहत भारतीय दण्ड विधान की सुसंगत धाराओं के तहत प्रशासनिक व कानूनी कार्रवाई की जायेगी।

==================
#VisitDeoghar
#CleanDeogharGreenDeoghar
==================
#TeamPRD(Deoghar)


सूचना भवन, देवघर
=================
जिला जनसम्पर्क कार्यालय
====================
प्रेस विज्ञप्ति संख्या-712
दिनांक -15/04/2020
====================

■ उपायुक्त-सह-जिला दण्डाधिकारी श्रीमती नैंन्सी सहाय द्वारा लॉकडाउन और स्वास्थ्य आपातकाल के वर्तमान समय में बीस मुख्य बातें का ध्यान रखने का निदेश संबंधित अधिकारियों को दिया गया है।

1. देवघर जिला अन्तर्गत/कन्ट्रोल रूम कक्ष को मजबूत करनाः उन्हें आवश्यक सेवाओं को चालू रखने और बहाली के लिए तैयार करने के लिए संबंधित विभागों के प्रमुख कर्मियों के साथ स्टाफ देना। हॉट स्पॉट और अड़चनों को ट्रैक करने के लिए GIS और विश्लेषणात्मक क्षमता सथापित करना, सोशल और प्रसारण मीडिया के लिए आपातकालीन संचार क्षमता सथापित करना। नागरिक, हितधारक और फ्रंटलाइन स्टाफ से प्रश्नों का जवाब देने और अड़चनों की पहचान करने के लिए समर्थन हॉटलाइन और कॉल सेंटर से सूचना प्रवाह को सक्षम करना।

2. स्वास्थ्य प्रणालियों, आपातकालीन सेवाओं और फार्मा एवं मेडिकल सप्लाई चेन का विस्तार करनाः और यह प्रासंगिक सलाह और अच्छी प्रथाओं के अनुसार करना। अलग मार्गदर्शन और विशिष्ट कार्याें की आवश्यकता है जो यहां नहीं दिये गए हैं।

3. सुरक्षित राज्यव्यापी ICT अवसंरचना और कामकाजी सेवाएं सुनिश्चित करना फोन, मोबाइल फोन, इंटरनेट, टीवी, प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया सभी नागरिकों के लिए संपर्क सक्षम करने के लिए, और राज्य तथा स्थानीय प्रशासन के साथ एक खुला और पारदर्शी इंटरफेस बनाना। निजी क्षेत्र के समर्थन के साथ संकटग्रस्त, अत्यधिक संवेदनशील और विशेष समूहों जैसे प्रवासियों में नागरिकों को जवाब देने के लिए हेल्पलाइन स्थापित करना ।

4. बैंकिंग, डाकघर, एटीएम और पूंजी सेवाओं को मजबूत करना जो प्रत्यक्ष नकद हस्तांतरण, बढ़ी हुई पेंशन आदि की डिलीवरी और आवश्यक सेवाओं और सरकारी कामकाज को चालू रखने के लिए जरूरी हैं। यदि नकद आपूर्ति कम होने की सूचना है, तो स्थानीय नकद आपूर्ति को फिर से भरने पर विचार करना, जो अनौपचारिक अर्थव्यवस्था की जीवन रेखा है।

5. राशन और सार्वजनिक सेवाओं का सुदृढ़ीकरण और विस्तार करना यह सेवा के रूप में समर्थन (जैसे भोजन, नागरिक आपूर्ति मिट्टी का तेल और एलपीजी) के वितरण के लिए आवश्यक है, इसमें स्टॉक ट्रैकिंग करना, दैनिक आवागमन को सक्षम करना, और अनौपचारिक क्षेत्र के श्रमिकों की रक्षा करना और उनका समर्थन करना शामिल है, जो इन प्रणालियों को चालू रखते हैं। आंगनबाड़ी और मध्याहन भोजन कार्यक्रमों, अस्पतालों और महत्वपूर्ण देखभाल सुविधाओं और बुजूर्गों, कमजोर और दरूस्थ आबादी के लिए आपूर्ति बनाए रखने के लिए विशेष देखभाल।

6. आपातकालीन यात्री निकासी/परिवहन सड़क और संभवत रेल द्वारा, पर्याप्त प्रवासीकरण और आश्रय, भोजन, स्थाथ्य जांच, दवा या संगरोध (क्वारनटाइन) के प्रावधान के साथ, लाखों प्रवासी श्रमिकों की जरूरतों और आपातकालीन चिकित्सा देखभाल, शोक/दखु आदि की आवश्यकता को संबोधित करने के लिए।

7.बिजली की आपूर्ति स्थिर बनाए रखना लॉकडाउन के दौरान निर्बाध आवासीय और कृषि बिजली सुनिश्चित करने के लिए वितरण के बुनियादी ढांचे पर ध्यान केंद्रित करना और लॉकडाउन के पश्चात तेजी से बहाली करना।

8. ईंधन की स्थिर आपूर्ति बनाए रखना और माल परिवहन, आपातकालीन सेवाओं के वाहनों को बनाए रखने के लिए (डीजल, पेट्रोल, एलपीजी और सीएनजी के) उपयुक्त स्टाॅक महत्वपूर्ण बुनियादी ढांचे के लिए बैकअप या कैप्टिव बिजली की आपूर्ति जैसे मोबाईल टाॅवर, टेलिकाॅम सिस्टम और डेटा सेंटर, अस्पतालः महत्वपूर्ण विनिर्माण सुविधाओं, गोदामों और कोल्ड चेन, कृषि और संबंद्ध गतिविधि और लाॅकडाउन के पश्चात सार्वजनिक तथा निजी यात्री मांग में वृद्धि के लिए तैयारी करना।

9. माल परिवहन को बनाए रखना और उसका विस्तार करनाः रेल सड़क और वायु द्वारा, राज्य के अंदर (इंस्ट्रस्टेट) और राज्यों के बीच (इंस्टरस्टेट) भोजन और आवश्यक आपूर्तियों, सतत प्रक्रिया और रणनीतिक उत्पादन ईकाईयों को बनाए रखने के लिए और लॉकडाउन के पश्चात तेजी से बहाली करने के लिए। रबी फसल का समर्थन करने के लिए स्थानीय छूट आवश्यक हो सकती है।

10. गोदामों और कोल्ड चेन सेवाओं को बनाए रखनाः पीडीएस और आवश्यक सेवाओं की व्यवस्थाओं का समर्थन करने के लिए।

यह कार्य आपूर्ति और कामकाज के पर्याप्त स्टॉक, सार्वजनिक, निजी और अनौपचारिक क्षेत्र के श्रमिकों की सुरक्षा, सुविधाओं की सुरक्षा और पर्याप्त बिजली, पानी की आपूर्ति और अपशिष्ट प्रबंधन सेवाओं को ट्रैक और सुनिश्चित करने के द्वारा किया जा सकता है।

11. आवश्यक सेवाओं के लिए आपूर्ति श्रंखृला बनाए रखनाः जीनरक्षक मूलभूत सेवाओं और वितरण और खुदरा श्रृंखलाओं में अनौपचारिक-अनौपचारिक क्षेत्र की व्यवस्था में बाधाओं को संबोधित करना। प्रमुख हितधारकों के साथ बातचीत करना और लॉकडाउन की स्थिति के एक चरणबद्ध छूट को सक्षम करना।

12. जल आपूर्ति सेवाओं को स्थिर बनाए रखनाः ताकि शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में घनी परिस्थितियों में बंद बड़ी आबादी के साथ, पानी से संबंधित बीमारियों के जोखिम को सीमित किया जा सके। पानी की कमी वाले क्षेत्रों में पाइलाइन-आधारित या टैंकर की नियमित आपूर्ति जहाँ आपूर्ति भूजल को पंप से निकालने करने पर निर्भर करती है, वहां स्थिर बिजली बने रखना।

13. स्वच्छता और ठोस अपशिष्ट सेवाओं को स्थिर बनाए रखनाः विशेष रूप से लॉकडाउन में बड़ी संख्या में लोगों के साथ स्वच्छता की स्थिति बनाए रखना। COVID-19 के संपर्क में आने के जोखिम वाले फ्रंटलाइन सफाई और ठोस अपशिष्ट श्रमिकों की बेहतर सुरक्षा करना।

14. कृषि और गैर-कृषि गतिविधियों को समर्थन देनाः अप्रैल 2020 से शुरू होने वाली अपेक्षित बम्पर रबी फसल का समर्थन करना, जिसमें पर्याप्त स्क्रीनिंग और सुरक्षा, कृषि उपकरण और कृषि आपूर्ति के साथ कृषि श्रमिकों के आवागमन में छूट शामिल है।

15. सिंचाई सेवाओं को बनाए रखनाः सब्जियों और फलों की आपूर्ति को स्थिर करने लिए गर्मियों की फसलों की बुवाई की रक्षा करना और लॉकडाउन के पश्चात तेजी से सेवा बहाली करना।

16. आवश्यक सामग्री का उत्पादन बढ़ाना जैसे दवाओं, चिकित्सा आपूर्ति भोजन, पका हुआ भोजन, घरेलू आपूर्ति राज्य के अंदर ईंधन की पुनः आपूर्ति या वैकल्पिक अंतर-राज्य व्यवस्था करना।

17. श्रमिकों और उनकी आजीविका को सुरक्षित रखनाः विशेष रूप से प्रवासियों और अनौपचारिक क्षेत्र के लोगों को। सभी फ्रंटलाइन स्वास्थ्य और स्वच्छता कार्यकर्ताओं को व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण (पीपीई) का एकत्रीकरण और वितरण करना। कानून और व्यवस्था, प्रशासनिक, जीवनरक्षक बुनियादी ढांचे और आवश्यक आपूर्तिकार्यों को बनाए रखने वाले अन्य नजदीकी-फ्रंटलाइन श्रमिकों के लिए उचित सुरक्षा और प्रशिक्षण के उपाय करना।

18. प्रवासी श्रमिकों और प्रवासी परिवारों की जरूरतों को पूरा करना।

19. कमजोर समूहों की जरूरतों को संबोधित करना जैस कि बेघर लोग, बुजूर्गाें, कैदी, मानसिक रूप से बीमार और विकलांग व्यक्ति।

20. उभरती भूख और कुपोषण संकट को संबोधित करनाः और इसके परिणाम स्वरूप मृत्युदर और रुग्णता, विशेष रूप से गरीब, कमजोर, अल्पपोषित बच्चों और महिलाओं के बीच प्रभाव को संबोधित करना।

==================
#VisitDeoghar
#CleanDeogharGreenDeoghar
==================
#TeamPRD(Deoghar)