9771935367, 06432-275733
You May Contribute at Deoghar District Relief Fund | A/C No. 39238814977,  SBI, Deoghar  | IFS Code : SBIN0000064
Click Here To Know About Corona Live Status In Jharkhand  | Click Here To Download LockDown Guidelines  | Click Here To Download COVID - 19 पांच की शक्ति
Migrant Information
Jharkhand E-pass

सूचना भवन, देवघर, जिला जनसम्पर्क कार्यालय, दिनांक -11/04/2020

सूचना भवन, देवघर
=================
जिला जनसम्पर्क कार्यालय
====================
प्रेस विज्ञप्ति संख्या-689
दिनांक -11/04/2020
====================
■ ■ तम्बाकू खाकर सार्वजनिक जगहों पर गंदगी फैलाने पर 6 महीने की सजा:-उपायुक्त....
======================
■ जिले के सभी सरकारी व गैर सरकारी कार्यालय एवं परिसर को घोषित किया गया तम्बाकू मुक्त क्षेत्र:- उपायुक्त....
======================
■ उलंघनकर्ताओं के खिलाफ जिला प्रशासन चलाएगा सघन अभियान:- उपायुक्त....
======================
■ खैनी और गुटका खाकर यत्र तत्र थूकने से बढ़ता है कोरोना संक्रमण का खतरा:- उपायुक्त....
======================
उपायुक्त सह जिला दंडाधिकारी श्रीमती नैंसी सहाय के आदेशानुसार आज दिनाँक 12.04.2020 से जिला अंतर्गत तंबाकू अथवा कोई अन्य पदार्थ खाकर यत्र-तत्र थूकने पर छह माह की सजा अथवा 200 रुपये जुर्माने का प्रावधान पारित किया गया है। साथ ही उपायुक्त द्वारा जानकारी दी गई है कि खैनी और गुटका खाकर यत्र तत्र थूकने से कोरोना वायरस के संक्रमण फैलने का खतरा ज्यादा है। ऐसे जिले के सभी सरकारी, गैर सरकारी कार्यालय एवं परिसर, सभी स्वास्थ्य संस्थान, सभी शैक्षणिक संस्थान, थाना परिसर आदि में किसी भी प्रकार का तंबाकू पदार्थ, सिगरेट, खैनी, गुटखा, पान मसाला, जर्दा आदि के उपयोग को पूर्णत: प्रतिबंधित करने का निर्देश दिया गया है। यदि कोई भी अधिकारी, कर्मचारी अथवा आगंतुक इसका उल्लंघन करते हैं तो उनके खिलाफ कानून के अनुरूप कार्रवाई होगी।

इसके अलावे उपायुक्त श्रीमती नैन्सी सहाय ने वरीय अधिकारियों के साथ अनुमंडल पदाधिकारी, प्रखंड विकास पदाधिकारी, अंचलाधिकारी के साथ सभी पुलिस पदाधिकारी को निर्देशित किया है कि सख्ती से कानून का अनुपालन सुनिश्चित करने के साथ उल्लंघन करने वालो पर कड़ी कार्रवाई करें।

■ तंबाकू के उपयोग को कहे नो:- उपायुक्त....

जिलावासियों से अपील करते हुए उपायुक्त श्रीमती नैंसी सहाय ने कहा गया है कि तंबाकू का सेवन जन स्वास्थ्य के लिए बड़े खतरों में से एक है। वर्तमान समय में यत्र-तत्र थूकना एक सार्वजनिक स्वास्थ्य खतरा है और संचारी रोग के फैलने का एक प्रमुख कारण है। तंबाकू सेवन करने वाले की प्रवृति यत्र-तत्र थूकने की होती है। थूकने के कारण कई गंभीर बीमारी यथा कोरोना, इंसेफलाइटिस, यक्ष्मा, स्वाइन फ्लू आदि का संक्रमण फैलने की आशंका रहती है। भा.द.वि. (IPC) की धारा 268 एवं 269 के तहत कोई भी व्यक्ति यदि महामारी के अवसर पर उपेक्षापूर्ण अथवा विधि विरूद्ध कार्य करेगा जिससे जीवन के लिए संकटपूर्ण रोग का संक्रमण हो सकता है तो उसे छह माह का कारावास एवं अथवा 200 रुपये जुर्माना किया जा सकता है।

==================
#VisitDeoghar
#CleanDeogharGreenDeoghar
==================
#TeamPRD(Deoghar)


सूचना भवन, देवघर
=================
जिला जनसम्पर्क कार्यालय
====================
प्रेस विज्ञप्ति संख्या-687
दिनांक -11/04/2020
====================
■ कोरोना से जंग में आप सभी का सहयोग आपेक्षित:- उपायुक्त....
==================
उपायुक्त सह जिला दंडाधिकारी श्रीमती नैंसी सहाय द्वारा जानकारी दी गयी कि लॉक डाउन के वजह से बहुत से असहाय, निर्धन एवं गरीब लोग जहाँ- तहाँ फँस गये हैं। ऐसे में उनके सहयोग हेतु प्रशासन द्वारा लगातार आवश्यक कार्य किया जा रहें है। इसके अलावा समाज के विभिन्न वर्ग के लोगों द्वारा भी आगे आकर अपने सामर्थ्य के अनुसार सहयोग किये जा रहे हैं। इसी कड़ी में आज देवघर के पंडा धर्मरक्षिणी सभा के द्वारा यहाँ के असहाय, बेघर व निर्धन लोगों के सहयोग हेतु देवघर जिला प्रशासन के राहत कोष में 2,00,000/- (दो लाख रुपये) की राशि दान की गयी है, ताकि उक्त राशि से देवघर के विभिन्न गरीब, निःसहाय एवं मजदूर तबके के लोगों की मदद की जा सके, जिनका लॉक डाउन के वजह से रोजी- रोजगार प्रभावित हो गया है एवं उनके पास जीवननिर्वाह हेतु कोई भी साधन उपलब्ध नहीं है।

==================
#VisitDeoghar
#CleanDeogharGreenDeoghar
==================
#TeamPRD(Deoghar)


सूचना भवन, देवघर
=================
जिला जनसम्पर्क कार्यालय
====================
प्रेस विज्ञप्ति संख्या-686
दिनांक -11/04/2020
====================
■ ड्रोन कैमरा के साथ अनुमंडल पदाधिकारी व अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी ने किया फ्लैग मार्च....
==================
■ लॉक डाउन के दरम्यान नियमों के उल्लंघन पर होगी कड़ी कार्रवाई:- अनुमंडल पदाधिकारी, देवघर....
=================
■ स्वच्छता व सतर्कता के साथ जागरूक बनें और दूसरों को भी जागरूक करेंः अनुमंडल पदाधिकारी, देवघर.....
==================
■ बिना वजह सड़कों पर न घूमें, न हीं कहीं भीड़ इक्टठा करें अन्यथा हो सकती है कार्रवाईः अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी, देवघर.....
==================
अनुमंडल पदाधिकारी, देवघर श्री विशाल सागर एवं अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी, देवघर श्री विकास चन्द्र श्रीवास्तव द्वारा संयुक्त रूप से कोरोना वायरस के प्रति लोगों को सचेत और जागरूक करने के उद्देश्य से आज देवघर शहरी क्षेत्र के विभिन्न इलाकों में ड्रोन कैमरा के साथ फ्लैग मार्च किया गया। इस दौरान टाॅवर चौक, रॉय कम्पनी मोड़, बजरंगी चौक, फव्वारा चौक, आजाद चौक के साथ-साथ विभिन्न चौक-चौराहों का भ्रमण कर लोगों को लॉक डाउन से जुड़ी जानकारियों से अवगत कराया गया।

■ फ्लैग मार्च के दौरान अनुमंडल पदाधिकारी एवं अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी ने सड़क पर बेवजह घूम रहें लोगों को जागरूक करते हुए दी चेतावनी....

इस दौरान अनुमंडल पदाधिकारी एवं अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी द्वारा विभिन्न चौक-चैराहों का निरीक्षण करते हुए बिना किसी ठोस वजह के सड़कों पर घूम रहें लोगों, दुकानदारों व पब्लिक ट्रांसपोर्ट से जुड़े वाहनों को सख्त चेतावनी दी गयी कि आवश्यक कार्य होने पर हीं अपने घरों से बाहर निकलें एवं एक जगह पर किसी भी स्थिति में पांच से अधिक लोग जमा न हों। आप सभी के स्वास्थ्य सुरक्षा को देखते हुए हीं सरकार द्वारा लॉक डाउन की गयी है, ताकि सोशल डिस्टेंसिंग को मेंटेन कर कोरोना वायरस के प्रसार रोकथाम लगाया जा सके। साथ हीं कहा गया कि जो व्यक्ति बिना किसी ठोस वजह के सड़कों पर इधर-उधर घूमते नजर आयेंगे अथवा उक्त आदेश का उल्लंघन करेंगे, उनके विरूद्ध The Jharkhand State Epidemic Disease Regulation, 2020 के तहत सख्त कार्रवाई की जायेगी।

इस अलावे अनुमंडल पदाधिकारी द्वारा जानकारी दी गई कि केंद्र व राज्य सरकार द्वारा कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव हेतु पूरे देश में पूर्णतः तालाबंदी (लॉक डाउन) की गयी है। ऐसे में सभी लोग सख्ती से लॉक डाउन का पालन करें, ताकि हम कोरोना वायरस के संक्रमण से बच सकें। उन्होंने आगे कहा कि लॉक डाउन के दरम्यान सभी लोग अपने घरों में रहें एवं बिना वजह अपने घरों से बाहर न निकले। आज से ड्रोन कैमरे को शहर के विभिन्न हिस्सो में उड़ाया जा रहा है और लॉक डाउन की वस्तुस्थिति का जायजा ड्रोन कैमरे से लिया जा रहा है। ड्रोन कैमरे में जैसे ही जहां भीड़भाड़ नजर आ रही है,वहां के आसपास में तैनात दंडाधिकारियों व पुलिस कर्मियों को इसकी सूचना दी जाएगी, ताकि उक्त स्थल पर प्रशासन पहुंचकर लॉक डाउन और सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन शक्ति से करा सके और संबंधित दोषी व्यक्ति पर कार्रवाई की जा सके। ऐसे में आप सभी से अपील है कि इस संक्रमण से बचाव हेतु सभी लोग जिला प्रशासन का पूरा-पूरा सहयोग करे एवं एक जिम्मेवार नागरिक होने का फ़र्ज़ निभायें।

इसके अलावे मौके पर उपस्थित अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी द्वारा जानकारी दी गयी कि केंद्र सरकार द्वारा पूरे देश में लागू किये गए लॉक डाउन के आदेश को पूर्णतः लागू कराने हेतु जिला प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन पूरी तरह से तत्पर है, परन्तु इसमें जब तक आप लोग सहयोग नहीं करेंगे तब तक इसे सफल नहीं बनाया जा सकता है। उन्होंने आगे कहा कि कोरोना वायरस से बचाव हेतु लोगो को जागरूक होकर सतर्क रहने की आवश्यकता है। अतः स्वास्थ्य सुरक्षा के दृष्टिकोण से आप सभी अपने घरों में रहें एवं सोशल डिस्टेंस का अक्षरशः पालन करें, ताकि कोरोना के वायरस को फैलने से रोका जा सके।

■ अनुमंडल पदाधिकारी व अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी द्वारा ड्रोन कैमरा के माध्यम से शहर के विभिन्न चौक-चौराहों पर होने वाले गतिविधियों की निगरानी की गयी.....

इसके अलावा निरीक्षण के क्रम में ड्रोन कैमरा से की जा रही निगरानी का अनुमंडल पदाधिकारी श्री विशाल सागर एवं अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी श्री विकास चंद्र श्रीवास्तव के द्वारा शहर के विभिन्न चौक-चौराहों पर हो रहे गतिविधियों की निगरानी की गयी एवं सभी शहरवासियों से अपील की गयी कि वे संवेदनशीलता का परिचय देते हुए लॉक डाउन का पालन करें, ताकि कोरोना वायरस के प्रसार पर अंकुश लगाने में मदद मिल सके। इसके अलावा अनुमंडल पदाधिकारी द्वारा कहा गया कि आवश्यकता अनुरूप जरूरत की सभी दुकानें खुली रहेंगी। इसलिए किन्हीं को भी घबराने की कोई आवश्यकता नहीं है। बस जरूरत है आप सभी के सहयोग की, ताकि हम सभी एकजुट होकर कोरोना के खिलाफ लड़ सके। उन्होंने कहा कि हम सभी को ये समझने की आवश्यकता है कि स्वास्थ्य सुरक्षा के दृष्टिकोण से कहीं भी एक साथ 5 लोगों से ज्यादा आदमी इक्टठा न हो एवं एक व्यक्ति से दुसरे व्यक्ति के बीच कम से कम एक मीटर की दूरी बनी रहे, ताकि कोरोना वायरस के संक्रमण से बचा जा सके। इसके अलावा निरीक्षण के क्रम में उन्होंने लोगों को बिना वजह घर से न निकलने की सलाह भी दी। इस मौके पर उपरोक्त के अलावे थाना प्रभारी, देवघर एवं पुलिस के जवान उपस्थित थे।

==================
#VisitDeoghar
#CleanDeogharGreenDeoghar
==================
#TeamPRD(Deoghar)


सूचना भवन, देवघर
=================
जिला जनसम्पर्क कार्यालय
====================
प्रेस विज्ञप्ति संख्या-681
दिनांक -11/04/2020
====================
■ लॉक डाउन के दरम्यान ड्रोन कैमरे से रखी जाएगी नजर:- उपायुक्त....
===================
■ नियमों की अनदेखी पर होगी कड़ी कार्रवाई:- उपायुक्त....
===================
लॉक डाउन के दरम्यान नियमों के अनुपालन को लेकर उपायुक्त सह जिला दंडाधिकारी श्रीमती नैंसी सहाय के निर्देशानुसार आज दिनांक 11.04.2020 से शहर में सुबह और शाम में ड्रोन कैमरे से नजर रखी जा रही है।

इसके अलावे उपायुक्त द्वारा जानकारी दी गई कि ड्रोन को शहर के विभिन्न हिस्सो में उड़ाया जा रहा है और लॉक डाउन की वस्तुस्थिति का जायजा ड्रोन में लगे कैमरे से लिया जा रहा है। ड्रोन कैमरे में जैसे ही जहां भीड़भाड़ नजर आ रही है,वहां के आसपास में तैनात दंडाधिकारियों व पुलिस कर्मियों को इसकी सूचना दी जाएगी, ताकि उक्त स्थल पर प्रशासन पहुंचकर लॉक डाउन और सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन शक्ति से करा सके।

इसके अलावे उपायुक्त श्रीमती नैंसी सहाय ने जिलावासियों से अपील करते हुए कहा की लगातार ऐसी शिकायतें मिल रही है कि लोग लॉकडाउन को गंभीरता से नहीं ले रहे हैं और सड़कों पर बिना किसी ठोस वजह के इधर-उधर घूमने का प्रयास कर रहे हैं, जो कि हम सभी के स्वास्थ्य सुरक्षा के लिहाज से ठीक नहीं है। हम सभी ये सामुहिक प्रयास करें कि सोशल डिस्टेंस का अनुपालन हो, कहीं भी चार लोग से ज्यादा जमा न हों। बिनावजह अपने घरों से न निकले और दूसरों को भी ऐसा करने के लिए प्रेरित करें।

■ अपने-अपने क्षेत्रों में कड़ी निगरानी के साथ लोगों को कोरोना के प्रति करें जागरूकः उपायुक्त....

लॉक डाउन के अनुपालन को लेकर उपायुक्त श्रीमती नैंसी सहाय ने सभी अनुमंडल पदाधिकारी व संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया कि अपने-अपने क्षेत्रों की निगरानी के साथ इस बात का विशेष ध्यान रखें कि किसी भी प्रकार की अफवाह न फैलायी जाय। साथ हीं सेनेटाईजर व मास्क की कालाबाजारी न हो, इसको लेकर पूर्ण रूप से एक्टिव रहे व समय-समय पर अपने स्तर से थोक व खुदरा दवा दुकानदारों के यहां औचक निरीक्षण करते रहें। इसके अलावे उन्होंने सभी कार्यालयों व थानों में हाथ धुलाई जागरूकता कार्यक्रम का निर्देश दिया, ताकि लोगों को ज्यादा से ज्यादा कोरोना के प्रति जागरूक किया जा सके। साथ हीं अपने-अपने क्षेत्रों में विशेष सर्तकता बरतते हुए बाहर से आये हुए लोगों पर नजर रखने का निर्देश दिया।

==================

#VisitDeoghar
#CleanDeogharGreenDeoghar
==================
#TeamPRD(Deoghar)


सूचना भवन, देवघर
=================
जिला जनसम्पर्क कार्यालय
====================
प्रेस विज्ञप्ति संख्या-685
दिनांक -11/04/2020
====================
■ वर्तमान समय मे जिले में नही कोई कोरोना संक्रमित व्यक्ति:- उपायुक्त.....
==================
■ मॉक ड्रिल का मुख्य उद्देश्य कोरोना संक्रमित व्यक्ति को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराना:- उपायुक्त....
==================
■ सभी की स्वास्थ्य सुरक्षा का ख्याल रखना हमारी प्राथमिकता:- उपायुक्त....
==================
■ जल्द ही सभी प्रखंडों में की जाएगी मॉक ड्रिल:- उपायुक्त.....
==================
उपायुक्त सह जिला दण्डाधिकारी श्रीमती नैन्सी सहाय की उपस्थिति में आज कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण की रोकथाम को लेकर को लेकर देवीपुर प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में मॉक ड्रिल किया गया एवं इसके माध्यम से कोरोना से निबटने की तैयारियों को परखा गया। इस दौरान सिविल सर्जन डाॅ0 विजय कुमार की उपस्थिति में प्रशिक्षित चिकित्सकों की टीम द्वारा डेढ़ घंटे तक सभी चिकित्सकों व स्वास्थ्य कर्मियों को कोरोना वायरस के संक्रमित मरीजों को आईसोलेट करने एवं उनका ईलाज करने का प्रशिक्षण दिया गया। साथ हीं वहां के आसपास के क्षेत्रों में संभावित और चिन्हित मरीज के मद्देनजर विभिन्न तैयारियों और व्यवस्थाओं को लेकर पूर्वाभ्यास भी किया गया।

इस दौरान माॅक ड्रील के माध्यम से जाना गया कि कोरोना वायरस के संक्रमित मरीज पाए जाने पर मरीज को उसके घर अथवा अस्पताल से किस प्रकार कोरोना से संबंधित इलाज हेतु आईसोलेशन सेंटर ले जाकर आइसोलेट किया जाय एवं उसका ईलाज प्रारंभ किया जाय। साथ हीं यह भी कोशिश की गयी कि कोरोना के मरीज को कैसे एंबुलेंस के माध्यम से अस्पताल लाया जा सकता है और उन्हें कैसे आइसोलेट किया जाएगा। इसमें क्या-क्या सावधानी बरतनी है, इसकी भी विस्तृत जानकारी दी गयी। साथ हीं सैनीटाइज करने, मास्क, टोपी आदि से एहतियात बरतने की जानकारी भी स्वास्थ्य कर्मियों को दी गयी।

इसके अलावा चिकित्सकों व स्वास्थ्य कर्मियों द्वारा मॉक ड्रिल के माध्यम से ये दिखाया गया कि किस तरह से वह संदिग्ध मरीजों को रिसीव कर वार्डों में ले जाएंगे। वार्ड में भर्ती मरीजों को भोजन, दवा देने व परीक्षण में क्या एहतियात बरतना होगा। इतना ही नहीं बीमार लोगों का नमूना लेने, उसे पैक करने और भेजने आदि की भी जानकारी दी गयी। साथ हीं कोरोना टीम व वार्डों में प्रतिनियुक्त लोगों को कौन-कौन से कपड़े पहनेंगे, कपड़ों को स्टेप वाइज कैसे उतारेंगे और किस तरह उसे नष्ट करेंगे आदि के बारे में भी बतलाया गया।

इस दौरान उपायुक्त द्वारा माॅक ड्रिल के संबंध में जानकारी दी गयी कि जिले में अभी तक कोरोना वायरस संक्रमण का कोई भी पॉजिटिव केस नहीं है। इसके बावजूद भी सरकार के निर्देशानुसार इस महामारी का मुकाबला करने के लिए जिले का प्रशासनिक तंत्र पूरी तरह से तैयार है। हरेक स्तर पर टीमें अपनी दायित्वों के प्रति तत्पर है एवं जिले में यदि कोई भी संक्रमित मरीज से संबंधित मामला सामने आता है तो किसी भी परिस्थिति में संक्रमित व्यक्ति के त्वरित उपचार हेतु सभी आवश्यक तैयारियां पूर्व से ही कर ली जा रही है, ताकि आवश्यकता पड़ने पर किसी प्रकार की कठिनाईयों का सामना न करना पड़े।

उन्होंने आगे कहा कि मॉक ड्रिल मात्र कोरोना संक्रमण से उपजी संभावित परिस्थितियों को लेकर तैयारियों से संबंधित था। इसके लिए भयाक्रान्त होने जैसी कोई बात नहीं है। आने वाले दिनों में अन्य सभी प्रखंडों में भी मॉक ड्रिल आयोजित किया जायेगा, ताकि कोविड-19 के संक्रमण से उपचार संबंधित डॉक्टर, नर्स एवं मेडिकल स्टाफ को पूरी तरह से तैयार किया जा सके।

उनके द्वारा आगे बतलाया गया कि किसी भी अपात स्थिति से निपटने के लिए स्वास्थ्य विभाग को अलर्ट पर रहने के निर्देश दिए गए हैं, जिसके तहत आज देवीपुर प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में मॉक ड्रिल की गई है, ताकि किसी भी आपात स्थिति से निपटने हेतु हम अभी से हीं पूरी तरह तैयार हो सकें। मॉक ड्रिल का प्रदर्शन कर चिकित्सकों व मेडिकल स्टाफ को बतलाया गया कि कोरोना संक्रमित मरीज का किस तरह इलाज करना है एवं इसके लिए क्या-क्या आवश्यक तैयारियां की जानी है।

इसके अलावे उन्होंने कहा कि माॅक ड्रिल के तहत आज स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों द्वारा एक डेमो मरीज पर मॉक ड्रिल किया गया। इस दौरान कोरोना से संबंधित व्यक्ति के आने पर उसे कर्मचारी द्वारा पहले हेल्प डेस्क तक पहुंचाया गया, इसके बाद मरीज की पूरी जानकारी एंट्री कर स्वास्थ्य जांच के लिए ओपीडी भेजा गया। वहां विशेषज्ञ चिकित्सकों की जांच जरूरत के अनुसार उपचार शुरू किया गया। वहीं पॉजिटिव मरीज पाए जाने पर उसे वेंटीलेटर में रखा गया एवं चिकित्कों व स्वास्थ्य कर्मियों के टीम द्वारा सभी एहतियाती उपाय बरतते हुए संबंधित मरीज का ईलाज प्रारंभ की की गयी। वर्तमान अभ्यास को शिक्षण के माध्यम के रूप में लिया गया, ताकि प्रक्रिया को सही बनाया जा सके। उन्होंने बताया कि वर्तमान मेें कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए सभी आवश्यक तैयारियां की जा रही है एवं कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों का ईलाज करने हेतु चिकित्सकों व स्वास्थ्य कर्मियों को पूरी तरह प्रशिक्षित कर तैयार किया जा रहा है। इसी के तहत आज मॉक ड्रिल के माध्यम से बताया गया कि कैसे टीम के सदस्य अपने को सुरक्षित रखते हुए किसी गंभीर मरीज को ससमय अस्पताल तक लायेंगे। साथ ही किस तरह संक्रमित मरीज को वार्ड तक शिफ्ट करना है एवं अस्पताल में बने विशेष वार्ड मेें प्रतिनियुक्त डॉक्टरों की एक टीम द्वारा संक्रमित मरीज की ईलाज किस प्रकार प्रारंभ की जायेगी। माॅक ड्रिल के दौरान बतलाया गया कि संक्रमित मरीज का उपचार करने वाले चिकित्सक व स्वास्थ्य कर्मी हेतु एक विशेष प्रकार की पीपीई किट है, जिसे पहनकर उन्हें मरीज का ईलाज करना है। इसके अलावा पीपी किट के पहनने के तरीके, कार्योपरांत उसका डिस्पोजल, अस्पताल व एम्बूलेंस को सेनेटाइज करने के तरीके आदि विषयों की विस्तृत जानकारी दी गई।

साथ हीं बतलाया गया कि जैसे ही कोई मरीज आता है, तो उसका ब्लड सैम्पल लिया जाएगा एवं सैम्पल को जांच हेतु लेब में भेजा जाएगा एवं मरीज को आइसोलेशन वार्ड में रखा जाएगा। इसके अलावा बतलाया गया कि यदि कोई संभावित मरीज हो तो उसके स्वास्थ्य जांच के उपरांत संभावित मरीज के स्वाब के नमूने को लेकर रिम्स, रांची में जांच हेतु भेजा जाए और जब तक संभावित मरीज का रिपोर्ट न आ जाय तब तक उसे चिकित्सकों व स्वास्थ्य कर्मियों की पूरी निगरानी में आईसोलेट कर रखा जाय।

तत्पश्चात उपायुक्त ने कहा कि देश में कोरोना वायरस का संकट गहराता जा रहा है। ऐसे में जरूरी है कि तमाम नागरिक संयम से काम लें। जिला प्रशासन द्वारा पूरी योजनावद्ध तरीके से सभी आवश्यक तैयारियां की जा रही है, ताकि महामारी के प्रभाव को कम से कम किया जा सके। परंतु इस महामारी को हराने के लिए जरूरी है कि सभी नागरिक उन निर्देशों का अवश्य पालन करें जो सरकार और प्रशासन के द्वारा दिये जा रहे हैं। इसमें सबसे अहम सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर अपने आप को एवं अपने परिवार को सुरक्षित रखना है, तभी जाकर सही मायने में हम इस महामारी से बच पायेंगे।

इस दौरान सिविल सर्जन डॉ. विजय कुमार द्वारा स्वास्थ्य कर्मचारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश देते हुए स्वास्थ्य सुरक्षा व बचाव की भी जानकारी दी गयी एवं निदेशित किया गया कि किसी भी कोरोना वायरस के संक्रमित अथवा संदिग्ध मरीज के ईलाज प्रारंभ करने के पूर्व चिकित्सकों की टीम द्वारा सभी एहतियाती उपाय बरतते हुए ईलाज प्रारंभ किया जाय, ताकि मरीज का ईलाज करने वाले चिकित्सक व स्वास्थ्य कर्मी कोरोना वायरस के चपेट में न आयें और इससे स्वयं को सुरक्षित रखते हुए मरीजो का ईलाज कर सके।

इस मौके पर उपरोक्त के अलावे सिविल सर्जन, डाॅ विजय कुमार, अनुमंडल पदाधिकारी, देवघर श्री विशाल सागर, प्रशिक्षु आईएएस श्री रवि आनन्द, प्रखण्ड विकास पदाधिकारी, देवीपुर श्री कौशल किशोर, अंचलाधिकारी, देवीपुर श्री सुनिल कुमार सहित स्वास्थ्य विभाग के विभिन्न अधिकारी, संबंधित चिकित्सक, स्वास्थ्य कर्मी व अन्य उपस्थित थें।

==================
#VisitDeoghar
#CleanDeogharGreenDeoghar
==================
#TeamPRD(Deoghar)