9771935367, 06432-275733
You May Contribute at Deoghar District Relief Fund | A/C No. 39238814977,  SBI, Deoghar  | IFS Code : SBIN0000064
Click Here To Know About Corona Live Status In Jharkhand  | Click Here To Download LockDown Guidelines  | Click Here To Download COVID - 19 पांच की शक्ति
Migrant Information
Jharkhand E-pass

सूचना भवन, देवघर, जिला जनसम्पर्क कार्यालय, दिनांक -02/06/2020

सूचना भवन, देवघर
=================
जिला जनसम्पर्क कार्यालय
====================
प्रेस विज्ञप्ति संख्या-978
दिनांक -02/06/2020
====================
■ देवघर प्रखंड अंतर्गत मनरेगा के तहत चल रहे विभिन्न योजनाओं का अनुमंडल पदाधिकारी ने किया निरीक्षण ....
==================

आज दिनांक 02.06.2020 को अनुमंडल पदाधिकारी सह अनुमंडल दण्डाधिकारी, देवघर श्री विशाल सागर द्वारा देवघर प्रखंड अंतर्गत सरसा पंचायत, चरकी पहाड़ी, विष्णुपुर गांव में मनरेगा के अंतर्गत बिरसा हरित क्रांति योजना व आम बागवानी कार्यक्रम के तहत 11 एकड़ भूमि पर चल रहे कार्यों का निरीक्षण कर वस्तुस्थिति से अवगत हुए। इस दौरान उन्होंने कार्य कर रहे श्रमिकों को साफ-सफाई के साथ-साथ शारीरिक दूरी का पालन करते हुए अपने कार्यों का निर्वहन करने का निर्देश दिया। इसके अलावा निरीक्षण के क्रम में अनुमंडल पदाधिकारी ने चल रहे आम बागवानी कार्यक्रम को लेकर को संबंधित अधिकारियों को आवश्यक व उचित दिशा-निर्देश दिया। साथ हीं पूर्व के अनुभवी कृषक जो बागवानी का कार्य पहले भी कर चुके हैं, उनसे बात चीत कर अनुमंडल पदाधिकारी द्वारा उनका अनुभव साझा किया गया। इसके अलावे उन्होंने अनुभवी कृषक मित्रों से भी अपील करते हुए कहा कि दूसरे कृषकों को भी इससे जुड़ी जानकारी अवश्यक साझा करें, ताकि कृषक प्रेरित होकर इस योजना के तहत लाभान्वित हो सके।

निरीक्षण के क्रम में अनुमंडल पदाधिकारी श्री विशाल सागर द्वारा जानकारी दी गयी कि योजना के तहत ग्रामीणों को फलदार वृक्ष लगाने व उसकी देखभाल करने संबंधी रोजगार मिलेगा। इसमें बुजुर्गों और विधवा महिलाओं को प्राथमिकता दी जायेगी, ताकि उनके लिए भी रोजगार उपलब्ध हो सके। इस योजना के जरिये सरकार सड़क किनारे, सरकारी भूमि, व्यक्तिगत या गैर मजरुआ भूमि पर फलदार पौधा लगाने के लिए ग्रामीणों को प्रोत्साहित करेगी। इन पौधों की देखभाल की जिम्मेवारी ग्रामीणों की होगी। अगले पांच साल तक पौधों को सुरक्षित रखने के लिए सहयोग मिलेगा। उन्हें पौधों का पट्टा भी दिया जायेगा, जिससे वे फलों से आमदनी कर सकें। पौधारोपण के करीब तीन साल बाद प्रत्येक परिवार को 50 हजार रुपये की वार्षिक आमदनी होगी। साथ ही फलों की उत्पादकता बढ़ने की स्थिति में फलों को प्रसंस्करण व उसके बाजार उपलब्ध कराने की व्यवस्था होगी। इस योजना के तहत पूरे जिले में एक हजार एकड़ में पौधारोपण के साथ दो लाख पौधा लगाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।

■ अनुमंडल पदाधिकारी ने दर्दमारा चेक पोस्ट का किया औचक निरीक्षण.....
अनुमंडल पदाधिकारी द्वारा संयुक्त रूप से कोरोना संक्रमण के रोकथाम और बचाव के उद्देश्य से बनाये गए दर्दमारा चेक पोस्ट का औचक निरीक्षण कर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया गया। साथ ही उनके द्वारा संबंधित चेकपोस्ट पर तैनात दण्डाधिकारियों व पुलिस जवानों से पुछताछ कर सुविधाओं व विधि-व्यवस्था की जानकारी ली गयी। इसके अलावे अनुमंडल पदाधिकारी द्वारा चेकपोस्ट पर सुरक्षा के हर पहलुओं का अवलोकन कर चेकपोस्टर पर उपस्थित अधिकारियों व पुलिस के जवानों को वाहनों के चेकिंग को लेकर आवश्यक व उचित दिशा-निर्देश दिया गया। साथ ही चेकपोस्ट पर प्रतिनियुक्त दंडाधिकारियों व पुलिस के जवानों को निदेशित किया कि सभी पूरी सतर्कता और सावधानी के साथ कार्य करें एवं हर एक गतिविधि पर अपनी पैनी नजर बनाये रखें, ताकि अवैध और बिना वजह सड़को पर घूम रहे वाहनों पर कार्रवाई की जा सके। इस दौरान अनुमंडल पदाधिकारी द्वारा प्रतिनियुक्त पुलिस पदाधिकारियों व कर्मियों के कार्यों की सराहना करते हुए सभी को सजग रहते हुए पूरी तत्परता के साथ कार्य करने की बात कही गयी।

इसके अलावे निरीक्षण के क्रम में अनुमंडल पदाधिकारी द्वारा संबंधित अधिकारियों के साथ चेकपोस्ट पर तैनात दंडाधिकारियों व पुलिस के जवानों व स्वास्थ्य कर्मियों को दूसरों के साथ अपने स्वास्थ्य सुरक्षा को लेकर आवश्यक व उचित दिशा-निर्देश दिया गया।

इस दौरान उपरोक्त के अलावे प्रशिक्षु आईएएस श्री संदीप मीणा, संबंधित प्रखण्ड के प्रखण्ड विकास पदाधिकारी, अंचलाधिकारी आदि उपस्थित थें।

==================
#UseMaskStaySafe
#CleanDeogharGreenDeoghar
==================
#TeamPRD(Deoghar)


सूचना भवन, देवघर
=================
जिला जनसम्पर्क कार्यालय
====================
प्रेस विज्ञप्ति संख्या-978
दिनांक -02/06/2020
====================
■ लॉकडाउन में मिली छूट, मगर बढ़ गई है सभी की जिम्मेवारी:- उपायुक्त....
==================
■ लॉकडाउन में सशर्त छूट की गाइडलाइंस जारी, मगर कोरोना वायरस के खिलाफ जारी रहेगी सख्त लड़ाई:- उपायुक्त....
==================

उपायुक्त सह जिला दण्डाधिकारी श्रीमती नैन्सी सहाय द्वारा जानकारी दी गयी है कि कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए देशव्यापी तालाबंदी अधिसूचित है। ऐसे में राज्य सरकार से द्वारा लाॅकडाउन में दी गयी छुट को लेकर किसी प्रकार की असमंजस की स्थिति न हो, इसको लेकर जिला प्रशासन द्वारा विस्तृत गाइडलाइन जारी कियाग गया है। साथ ही प्राप्त निर्देश के आलोक में अवधि में कंटेनमेंट जोन के बाहर विभिन्न गतिविधियों को जारी रखने की अनुमति प्रदान की गई है। इस क्रम में गृह मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा दिनांक- 30.05.2020 को जारी दिशा-निर्देश के आलोक में मुख्य सचिव, झारखंड, राँची के आदेशानुसार कंटेनमेंट जोन के बाहर अतिरिक्त गतिविधियों को जारी रखने का आदेश दिया गया है। देवघर जिलान्तर्गत कंटेनमेंट जोन के बाहर निम्नांकित अतिरिक्त गतिविधियों को जारी रखने का आदेश दिया जाता है-

1. नगर निगम क्षेत्र में मोबाईल, घड़ी, कंज्यूमर इलेक्ट्रोनिक्स से संबंधित उत्पाद जैसे- टी०वी०, आई०टी० से संबंधित उत्पाद जैसे कम्प्यूटर एवं अन्य कंज्यूमर इलेक्ट्रोनिक्स उत्पाद जैसे- रेफ्रीजरेटर, एयर कंडिशनर, एयर कूलर आदि से संबंधित सभी प्रकार की दुकानें।
2. निजी कंपनियों के काॅल सेंटर की गतिविधियाँ।

3. निम्नलिखित बिक्री करने वाली दुकानों को जिला मुख्यालय में संचालित करने की अनुमति दी जाती हैः-
(i) पूँजीगत सामान/भारी मशीनरी/जनरेटर।
(ii) आई०टी० हार्डवेयर उत्पाद/नेटवकिंग उपकरण/साॅफ्टवेयर/टेलीकाॅम उत्पाद इत्यादि।
(iii) बिजली के उत्पाद जैसे तार/स्वीच गियर/लाईट/पंखे/एयर कूलर/गीजर/इन्भर्टर।
(iv) कंज्यूमर ईलेक्ट्रोनिक्स जैसे मोबाईल/टी०भी०/रेफ्रीजरेटर/वाॅसिंग मशीन/एयर कंडिशनर आदि से संबंधित सभी प्रकार की दुकानें।
(v) ऑटोमोबाइल/साईकिल/ट्रेक्टर्स।
(vi) ऑटो पार्ट्स/बैट्री।
(vii) ज्वेलरी दुकानें।
(viii) चश्मा/काॅन्टेक्ट लेंस।
(ix) रसोई के बत्र्तन/बत्र्तन/क्राॅकरी।
(x) फर्निचर।

4. जिला मुख्यालय में गैरेज और मोटर वर्कशाॅप।
5. जिला मुख्यालय में रेस्तरां (केवल होम डिलिवरी/दूर ले जाने के लिए)
6. जिला के अन्दर सार्वजनिक परिवहन के लिए ऑटो रिक्शा/टेम्पो/ई-रिक्शा/सामान्य रिक्शा का परिचालन।
7. इस आदेश के पहले अनुमति प्रदत्त सभी गतिविधियाँ पूर्ववत जारी रहेंगी।

दुकानदार/संस्थान/प्रतिष्ठानों के लिए शर्त:-

1 अनुमति प्रदत्त संबंधित दुकानदार/संस्थान/प्रतिष्ठानों के संचालक आवश्यक सुरक्षा कीट यथा- मास्क, ग्लब्स आदि पहने रहेंगे एवं इस कार्य में लगे स्टाफ को भी सुरक्षा कीट उपलब्ध करायेंगे।
2 यथासंभव स्टाफ/मजदूर बाहर के जिलों का नहीं रखकर स्थानीय व्यवस्था के तहत रखा जाय।
3 स्वयं एवं स्टाफ घर वापस जाने पर सेनिटाईज होकर ही परिवार के सदस्यों से मिलेंगे।
4 दुकानों/संस्थान/प्रतिष्ठानों में थर्मल स्केनर रखा जाय एवं 2-3 दिनों के अन्तराल में स्टाफ/मजदूरों का थर्मल स्केनिंग करेंगे। किसी प्रकार लक्षण पाये जाने पर जिला प्रशासन को अवगत करायेंगे।
5 दुकानों को नियमित रूप से डिस्इन्फेक्ट कराया जाय।
6 एक समय में पाँच से अधिक ग्राहक खड़े नहीं होंगे तथा सामाजिक दूरी के नियमों का सख्ती से अनुपालन करेंगे। साथ ही कार्य करने की सम्पूर्ण गतिविधियों के दौरान भी सामाजिक दूरी के नियमों का अनुपालन करेंगे।
7 ग्राहकों को मास्क पहनने एवं सामाजिक दूरी का अनुपालन करने हेतु जागरूक किया जाय।
8 कोविद 19 के प्रबंधन हेतु गृह मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा जारी राष्ट्रीय निर्देशों का सख्ती से अनुपालन सुनिश्चित कराया जायेगा।

कंटेनमेंट जोन के बाहर जिला के अन्दर ऑटो/रिक्शा/टैम्पो/ई-रिक्शा/सामान्य रिक्शा को भाड़े पर चलाने के लिए निर्देशः-

9 ऑटो रिक्शा/टैम्पो व्यवसायिक वाहन की श्रेणी में निबंधित होना चाहिए एवं सक्षम प्राधिकार से परमिट निर्गत होना चाहिए। परमिट ही उनका रूट पास माना जायेगा, इन्हें अलग से पास लेने की जरूरत नहीं होगी।
10 ई-रिक्शा की स्थिति में सक्षम प्राधिकार द्वारा निर्गत रूट पास उनका पास माना जायेगा एवं परमिट/रूट पास की प्रति ऑटो/ई-रिक्शा सामने वाले शीशे पर चिपकाया जाना अनिवार्य होगा।
11 ऑटो रिक्शा/टैंपो/ई-रिक्शा/मैनुअल रिक्शा की बुकिंग प्रारंभ स्थान से गंतव्य स्थान के लिए होनी चाहिए। बीच में रोककर सवारी लेना प्रतिबंधित रहेगा। बुकिंग सेयरिंग बेसिस पर मान्य नहीं होगा।
12 ऑटो रिक्शा/टैम्पों/ई-रिक्शा/सामान्य रिक्शा के चालक को मास्क/फेस कवर इत्यदि पहनना एवं शारीरिक दूरी का पालन करते हुए सीट के दोनो किनारे बैठना अनिवाय होगा।
13 वाहन में सैनिटायजर रखना होगा एवं प्रत्येक बार नए यात्री के बैठने के पूर्व सीटों को सेनिटाईज किया जायेगा।
14 यात्रा के दौरान यात्रियों/चालक द्वारा धुम्रपान/पान/गुटका/खैनी खाना प्रतिबंधित रहेगा।
15 वाहन चालक एवं यात्री से अनुरोध है कि अपने स्मार्ट फोन पर आरोग्य सेतु एप्प स्टाॅल करते हुए इसे ऑन रखेंगे।
16 वाहन चलाने के लिए विभागीय SOP का अनुपालन किया जायेगा।
17 नियमों का उल्लंघन होने पर मोटरवाहन अधिनियम की सुसंगत धाराओं के तहत विधिसम्मत कार्रवाई की जायेगी।

इसके अलावे आदेश का उल्लंघन करने वाले व्यक्तियों/प्रतिष्ठानों/संस्थानों के विरूद्ध Disaster Managemet Act 2005 के तहत् एवं भारतीय दंड संहिता, 1860 के सेक्सन 188 के तहत् सख्त कानूनी कार्रवाई की जायेगी।
यह आदेश दिनांक- 01.06.2020 से प्रभावी एवं 30.06.2020 तक की अवधि के लिए लागू रहेंगी।
==================
#UseMaskStaySafe
#CleanDeogharGreenDeoghar
==================
#TeamPRD(Deoghar)


सूचना भवन, देवघर
=================
जिला जनसम्पर्क कार्यालय
====================
प्रेस विज्ञप्ति संख्या-980
दिनांक -02/06/2020
====================
■ मत्स्य पालन के माध्यम से बेहतर रोजगार की संभावनाएंः उपायुक्त....
==================

उपायुक्त सह जिला दण्डाधिकारी श्रीमती नैन्सी सहाय द्वारा जानकारी दी गयी कि वैसे प्रवासी मजदूर जो कोविड-19 वैश्विक महामारी लाॅकडाउन के कारण तेलंगाना, आन्ध्रप्रदेश, महाराष्ट्र, केरल, गुजरात आदि राज्यों से वापस देवघर लौटे है। साथ ही जिनके पास मत्स्य प्रक्षेत्र में कार्य करने का अनुभव हो उन्हें मत्स्य विभाग के तरफ से सूचीबद्ध कर मत्स्यपालन से जोडे़ जाने का विचार किया जा रहा है। वर्तमान में मछली पालन व्यसाय के माध्यम से बेहतर रोजगार के अवसर उपलब्ध होते है, वहीं गांव के तालाब, बंजर पड़ी पंचायती जमीन पर बनायी तालाबों से जल संचयन और आय के साधन भी बढायें जा सकते है।

हमारी अर्थव्यवस्था में मछली पालन एक महत्वपूर्ण व्यवसाय है जिसमें रोजगार की अपार संभावनाएं हैं। ग्रामीण विकास एवं अर्थव्यवस्था में मछली पालन की महत्वपूर्ण भूमिका है। मछली पालन के द्वारा रोजगार सृजन तथा आय में वृद्धि की अपार संभावनाएं हैं, ग्रामीण पृष्ठभूमि से जुड़े हुए लोगों में आमतौर पर आर्थिक एवं सामाजिक रूप से पिछड़े, अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति व अन्य कमजोर तबके के हैं जिनका जीवन-स्तर इस व्यवसाय को बढ़ावा देने से उठ सकता है। मत्स्योद्योग एक महत्वपूर्ण उद्योग के अंतर्गत आता है तथा इस उद्योग को शुरू करने के लिए कम पूंजी की आवश्यकता होती है। इस कारण इस उद्योग को आसानी से शुरू किया जा सकता है।

इसके अलावे वैसे मत्स्य मित्रों को सूचित किया जाता है कि यदि वे मत्स्य पालन से जुड़ने की इच्छा रखते हो तथा मछली पालन को स्वरोजगार के रूप में अपनाना चाहते है, तो मत्स्य कार्यालय से कार्य दिवस में निम्नालिखित मोबाईल नम्बर पर सम्पर्क कर जानकारी प्राप्त कर सकते हैंः-

1. श्री रमेन्द्र नाथ सहाय, मत्स्य प्रसार पदाधिकारी (9431368205)
2. श्री राकेश कुमार, मत्स्य प्रसार पर्यवेक्षक (9934236233)
■ मछली पालन एक उद्योग.....
● सुलभ,सस्ता और अधिक आय देने वाला
● स्वरोजगार उपलब्ध कराने की महत्वपूर्ण योजना
● संगठित तरीके से व्यवसाय की शुरुआत
● अनुकूल प्राकृतिक स्थिति
● पूरे समाज की बेहतरी
● लाभार्जन करने वाले सहायक उद्योग

==================
#UseMaskStaySafe
#CleanDeogharGreenDeoghar
==================
#TeamPRD(Deoghar)